Media Coverage

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के अंतर्गत हुआ निःशुल्क इलाज - गीतांजली हॉस्पिटल में साँस की नली में फँसे सुपारी के टुकड़े को बिना ऑपरेशन दूरबीन द्वारा सफलतापूर्वक निकाला

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के अंतर्गत हुआ निःशुल्क इलाज - गीतांजली हॉस्पिटल में साँस की नली में फँसे सुपारी के टुकड़े को बिना ऑपरेशन दूरबीन द्वारा सफलतापूर्वक निकाला

गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल में उदयपुर के रहने वाले 58 वर्षीय रोगी को साँस की नली में फँसे सुपारी के टुकड़े को बिना ऑपरेशन दूरबीन द्वारा सफलतापूर्वक निकाल कर श्वास रोग विभाग के डॉ अतुल लुहाड़िया, डॉ रोनक कांकरेचा, डॉ हिरेन हड़िया एवं टेक्नीशियन लोकेंद्र ने सफल ब्रोंकोस्कोपी कर स्वस्थ जीवन प्रदान किया।

रोगी को पीछले कुछ दिन से अचानक खांसी, सांस, सीने में दर्द समस्यायें उत्पन्न हुई। ऐसे में रोगी के परिजन गीतांजली हॉस्पिटल के साँस रोग विभाग़ में डॉ एस.के.लुहाड़िया और डॉ अतुल लुहाड़िया से मिले ।एक्सरे में पाया गया कि रोगी का बायां फेफड़ा बिलकुल पिचक गया है । रोगी का ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा था इसलिए रोगी को आइसीयू में भर्ती करके ऑक्सीजन दिया गया। मरीज़ की विडियो ब्रोंकोस्कोपी की गई एवं पाया गया की बाएँ फेफड़े की ओर जाने वाली सांस की नली में कोई गठान जैसा बाहरी पदार्थ (फॉरेन बॉडी) पड़ा है जिसके कारण बायां फेफड़ा पूरा पिचक गया था । डा. अतुल एवं उनकी टीम ने रोगी को बिना बेहोश किए लोकल एनेस्थीसिया की मदद से ही दूरबीन द्वारा फॉरेन बॉडी को थ्री प्रोंग बायोप्सी फ़ोरसेप से पकड़ कर बाहर निकाला | बाहर निकलने पर ये पाया गया की फ़ोरेन बॉडी सुपारी का टुकड़ा (3 x 1 सेमी) है जो मरीज़ के सोते हुए सुपारी खाते समय साँस की नली में जाके बाई तरफ फँस गया था । सुपारी का टुकड़ा बाहर निकलते ही मरीज़ अच्छा महसूस करने लगा एवं उसका फेंकड़ा भी वापस सामान्य हो गया।आमतौर पर फॉरेन बॉडी रिजिड ब्रोंकोस्कोपी द्वारा मरीज को बेहोश करके निकाली जाती है, इसमें जटिलताएँ ज़्यादा होती है| डॉ. अतुल एवं उनकी टीम ने सुपारी का टुकड़ा लोकल एनेस्थीसिया में ही वीडियो ब्रोंकोस्कोपी द्वारा निकाल दिया | रोगी की ये जटिल जाँच एवं इलाज गीतांजली हॉस्पिटल में मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के अंतर्गत निःशुल्क किया गया| रोगी अब बिलकुल स्वस्थ है और अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

गीतांजली हॉस्पिटल का एक टर्शरी केयर मल्टी सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल है यहाँ के श्वास रोग विभाग में सभी एडवांस तकनीके व संसाधन उपलब्ध हैं जिससे जटिल से जटिल समस्याओं का निवारण निरंतर रूप से किया जा रहा है।

गीतांजली हॉस्पिटल के पिछले 15 वर्षों से सतत रूप से हर प्रकार की उत्कृष्ट एवं विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करा रहा है एवं जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सेवाएं देता आया है।